दक्षिणावर्ती शंख क्या है? जानिए इसकी पहचान और कीमत

0
122
दक्षिणावर्ती शंख
दक्षिणावर्ती शंख

दक्षिणावर्ती शंख: हिंदी धर्म में लक्ष्मी माँ को धन की लक्ष्मी माना गया है. ऐसी मान्यता है कि लक्ष्मी माँ को प्रसन्न करने से मनुष्य को लाभ ही लाभ प्राप्त होते हैं. लक्ष्मी माँ की उत्पत्ति समुद्र से हुई थी इसलिए दक्षिणावर्ती शंख का शास्त्रों में विशेष स्थान है. यदि घर में पूरे विधि विधान से इसका पूजन किया जाए तो हर प्रकार के संकट दूर हो जाते हैं और लाभ मिलते हैं. ज्योतिष विशेषज्ञों के अनुसार अगर घर में विधि विधान से दक्षिणावर्ती शंख की स्थापना की जाए तो घर में कभी भी धन की कमी नहीं आती. आज हम आपको इस लेख में दक्षिणावर्ती शंख के बारे बताने जा रहे हैं. चलिए जानते हैं आखिर यह शंख क्या है और इसकी पहचान कैसे की जा सकती है.

दक्षिणावर्ती शंख क्या है?

दक्षिणावर्ती शंख का हिंदू पूजा पद्दति में महत्वपूर्ण स्थान है. यह माँ लक्ष्मी देवी के स्वरूप को दर्शाता है. क्षिणावर्ती शंख ऎश्वर्य एवं समृद्धि का प्रतीक है इस शंख का पूजन एवं ध्यान व्यक्ति को धन संपदा से संपन्न बनाता है और व्यवसाय में सफलता दिलाता है इस में जल भर कर सूर्य को जल चढाने से नेत्र संबंधि रोगों से मुक्ति प्राप्त होती है तथा रात्रि में इस शंख में जल भर कर सुबह इसके जल को संपूर्ण घर में छिड़कने से सुख शंति बनी रहती है.वैसे तो दक्षिणावर्ती शंख कईं प्रकार के हो सकते हैं लेकिन यह मूल रूप से दो तरह के पाए जाते हैं- प्रथम वामवर्ती शंख और दक्षिणावर्ती शंख. इनमे से प्रथम वामवर्ती शंख दायीं ओर से खुला होता है जबकि दक्षिणावर्ती शंख का मुख बंद होता है. इसे पूजा में बजाया नहीं जाता केवल पूजा स्थल पर रख कर ही लाभ लिए जाते हैं.

दक्षिणावर्ती शंख की पहचान

बता दें कि भगवान शिव को छोड़कर बाकी सभी देवी देवताओं पर शंख से जल अर्पित किया जाता है. कहा जाता है कि शंखचूड़ नामक एक दैत्य का वध भगवान शिव ने किया था इसलिए शंख का जल शिव को विषेध बताया गया है. इसके इलावा शंख से वास्तुदोष भी दूर नहीं होता. आज कल बाज़ार में कईं प्रकार के शंख दक्षिणावर्ती शंख बता कर बेचे जा रहे हैं. लेकिन दक्षिणावर्ती शंख की पहचान करना आप सभी के लिए अनिवार्य है. क्यूंकि असली शंख से ही आपको लाभ मिल सकते हैं. यदि आप दक्षिणावर्ती शंख की पहचान करना चाहते हैं तो बता दें कि शंख को नमक वाले पानी में 7 से 10 दिन रखा जाए तो असली शंख की पहचान हो जाएगी. क्यूंकि नमक वाले पानी में शंख रखने से टूट जाएगा या उसमे दरारे पड़ जाएंगी जबकि असली शंख हमेशा असली स्तिथि में रहेगा.

दक्षिणावर्ती शंख की कीमत

दक्षिणावर्ती शंख की कीमत अलग अलग जगहों पर अलग अलग हो सकती है. आम तौर पर इस शंख की कीमत 1700 रुपए से शुरू होती है लेकिन कुछ जगहों पर इसकी कीमतों में भारी अंतर देखने को मिलता है. बहरहाल चलिए जानते हैं दक्षिणावर्ती शंख के लाभ क्या क्या होते हैं-

  • दक्षिणावर्ती शंख को अपने घर में धन स्थान जैसे कि तिजोरी में रखें इससे कभी भी आपकी तिजोरी खाली नहीं रहेगी.
  • बेडरूम में दक्षिणावर्ती शंख रखने से मन शांत रहता है और सकारात्मक उर्जा का संचार होता है.
  • इस शंख को घर में स्थापित करने से घर में कभी भी जादू-टोने का प्रभाव नहीं रहता.

यह भी पढ़ें : पन्ना रत्न पहनने की विधि

5 (100%) 3 votes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here