एक प्रेरणादायक कहानी जो आपकी सोच बदल देगी

0
272
प्रेरणादायक कहानी

प्रेरणादायक कहानी (Motivational Story for Success)

प्रेरणादायक कहानी (Motivational Story for Success) एक बार एक कार्पेंटर था जिसकी उम्र 60 साल थी और उसको जॉब करते हुए 40 साल हो गये थे. वह एक दिन अपने बॉस के पास जाता है ओर बोलता है की बॉस अब मैं रिटायरमेंट लेना चाहता हूँ, आपके साथ काम करते हुए मुझे 40 साल हो गये हैं अब मैं अपने बच्चों के साथ वक़्त बिताना चाहता हूँ.

बॉस तो बॉस होते हैं, उन्होने सोचा कार्पेंटर से जाते जाते थोड़ा और काम निकलवा लिया जाए तो अच्छा रहेगा. बॉस ने कार्पेंटर से कहा, “अगर रिटायरमेंट लेनी है तो ले लेना, पर जाने से पहले एक आख़िरी प्रॉजेक्ट करते जाओ इस प्रॉजेक्ट पर ढाई महीने से ज़्यादा का समय नहीं लगेगा बस उसको पूरा कर के जाओ फिर हम आपको एक अच्छा सा उपहार दे कर विदा करेंगे”. कार्पेंटर ने भी हाँ कर दी, कहा कि जाने का समय है तो ना नहीं करता, यह प्रॉजेक्ट मैं कर लूँगा ढाई महीने की तो बात है  कौन सा कईं सालों का काम है. कार्पेंटर ने हाँ तो कर दी और काम भी शुरू कर दिया पर काम में पहले जैसी बात नहीं रही थी.

पहले कार्पेंटर दिल से काम करता था पर अब वह सोच रहा था कि अभी मैं घर पर होता और अपने पोते-पोतियों के साथ अच्छा समय बिता रहा होता. पर अब मुझको ज़बरदस्ती यह काम करना पड़ रहा है. कार्पेंटर ने आज तक जो भी काम किया पूरे मन से किया लेकिन इस बार आधे-अधूरे मन से काम किया. जिस कार्पेंटर ने अपने जीवन मे अच्छे से अच्छे घर बनाए थे अब वही कार्पेंटर अपने द्वारा बनाया आख़िरी घर अच्छा नहीं बना पाया. अब किसी तरह उस कार्पेंटर ने वह घर पूरे ढाई महीनो में तैयार कर दिया. अब घर तैयार हो चुका था अब बस बॉस ने चेक करने आना था.

बॉस उस घर को चेक करने आ ही रहा होता है कि वह रुक जाता है और कार्पेंटर को अपने पास बुलाता है और बोलता है कि तुमने मेरे लिए 40 साल काम किया है और मैं तुम्हारे काम से हमेशा खुश रहा हूँ बॉस कार्पेंटर के हाथ मे एक चाबी पकड़ा देता है और बोलता है कि ये उस घर की चाबी है जिस घर को तुमने बनाया था. ये घर मेरी तरफ से तुम्हारे लिए एक तोहफा है. तब कार्पेंटर की आँखें खुली की खुली रह जाती है और वह मन ही मन सोचता है, “हे भगवान अगर मुझे पता होता की ये घर मे अपने लिए बना रहा हूँ तो मैं दुनिया का सबसे अच्छा घर बनाता पर मैं अपने ही घर को अच्छा नहीं बना पाया”.

प्रेरणादायक कहानी से तात्पर्य

अपने काम को हमेशा अच्छा करो हमारा काम ही हमारा भविष्य बनाता है.

Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here