बाबा रामदेव योगा – Baba Ramdev Yoga Tips

0
404
बाबा रामदेव के प्राणायाम
Rate this post

बाबा रामदेव योगा गुरु परिचय – Baba Ramdev Yoga Tips

हरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले के अली सैयद पुर या अलीपुर गांव में राम निवास यादव और गुलाबो देवी के घर रामकृष्ण यादव का 26 दिसंबर, 1965 को जन्म ‍हुआ था. औपचारिक रूप से उनकी शिक्षा केवल 8वीं तक ही हुई है. रामकृष्ण ने युवा अवस्था में ही सन्यास लेने का सकंल्प ले लिया था. सन्यास लेने के बाद बाबा रामदेव के नये रूप में लोकप्रिय हो गए. बाबा रामदेव के प्राणायाम व योगासन बहुमूल्य है (Baba Ramdev Yoga Tips). भारत से भ्रष्टाचार को मिटाने के लिये बाबा रामदेव ने काफी बार आवाज़ उठाई है.

बाबा रामदेव योगा | बाबा रामदेव के प्राणायाम – Baba Ramdev Yoga Tips

बाबा रामदेव वो व्यक्ति है जिन्होंने योग को पुरे विश्व में फैलाया है. योग के साथ साथ उन्होंने पतंजलि नामक एक संस्थान भी खोला है जहां पर उन्होंने स्वदेशी उत्पादों का निर्माण शुरू किया जो आज हर प्रकार के उत्पाद बनाती है. बाबा रामदेव योग शिक्षा के लिए पुरे भारतवर्ष में प्रसिद्ध है. बाबा रामदेव योग और बाबा रामदेव के प्राणायाम में अलग-अलग योग अवस्थाएं और विधि के बारे बताते है जो अच्छी सेहत और शरीर को तंदरुस्त करने के लिए सहायक होती है. बाबा रामदेव के अनुसार अगर आप योग को अपने जीवन में अपनाते हो तो आप रोग मुक्त जीवन बिता सकते हो. आजकल हर कोई व्यक्ति किसी न किसी समस्या से परेशान है चाहे वह बढ़ता वजन हो या फिर पाचन समस्या. आप सभी समस्याओं को दूर कर सकते हो अगर आप योग को अपने जीवन में अपनाते हो. नियमित योग करने से आपको सेहत, सुंदरता दोनों मिलेगी.

बाबा रामदेव के प्राणायाम

बाबा रामदेव के प्राणायाम ( Baba Ramdev Pranayam ) की विधि जिन्हें अपनाकर आप घर बैठे ही प्राणायाम ( Pranayam ) कर सकते हो. बाबा रामदेव के श्वास विधि के कुछ प्राणायाम निचे दिए गए है.

कपालभाति प्राणायाम

अगर आप अपने जीवन में बढ़ते वजन से परेशान है तो आप कपालभाति प्राणायाम का रोज़ाना अभ्यास करें. श्वास को अंदर-बाहर करके कपालभाति प्राणायाम आपको पेट, डायजेशन में होने वाली आंतरिक समस्याओं से बचाता है.स्वस्थ शरीर के लिए पाचन क्रिया का सही होना सबसे बहुत जरुरी है. कपालभाति प्राणायाम करने से पाचन क्रिया सुधरती है और शरीर का वजन भी कम होता है.

अनुलोम विलोम प्राणायाम

यह योग विधि दिमाग और शरीर को साफ़ और स्वस्थ रखने के लिए काफी प्रभावशाली है अनुलोम-विलोम साँस को अंदर बहार करने वाला व्यायाम है इससे फेफड़ो में शुद्ध हवा जाती है और शरीर मजबूत बनता है इस आसान को केवल 20 मिनट तक करने से बेहद लाभ मिलते है.

उद्घित प्राणायाम

उद्घित प्राणायाम को करते समय इस प्राणायाम में श्वास लेने और छोड़ने का समय ज्यादा होता है सभी प्राणायामो में श्वास महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. प्राणायाम करते समय श्वास पर ध्यान केन्द्रित करना जरुरी है और प्राणायाम करते समय दिमाग में हमेशा सकारात्मक विचार ही रखें श्वास लेते समय सकारात्मक विचारो को अन्दर लें और श्वास छोड़ते समय नकारात्मक विचारों को बाहर छोड़ें.

बाबा रामदेव के योगा से होने वाले लाभ

हाई ब्लड प्रेशर और लो ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर होती है.
शरीर के अंग-अंग को तरोताजा और सक्रीय रहते है.
शरीर की आंतरिक शक्ति और पाचन तंत्र को मजबुत बनते है.
योगा करने से दिमाग शांत रहता है और स्थिर रहता है.
योगा करने से आपको अच्छी नींद आती है.
योगा करने से ध्यान केंद्रित करने में सहायता मिलती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here