मदार का पौधा है तमाम रोगों में रामबाण, जानिए इसके स्वास्थ्य लाभ

0
1363
मदार का पौधा
मदार का पौधा

मदार का पौधा: पेड़ पौधे कुदरत की देन हैं. इनमें से बहुत से पौधे इंसान द्वारा उगाए जाते हैं जबकि कुछ पौधे ऐसे भी हैं जो धरती की गोद में खुद ही जन्म ले लेते हैं. इन्ही में से मदार का पौधा भी एक है. यह पौधा आमतौर पर आक, अर्क या अकौआ के नाम से भी जाना जाता है. यह बिना किसी इंसानी मदद के खुद ही जन्म लेता है. इस पौधे के फूल सफेद और नीले होते हैं. हालाँकि यह एक तरह का ज़हरीला पौधा है लेकिन इसे धार्मिक महत्वता के चलते सबसे ख़ास माना जाता है. मदार का पौधा मुख्य रूप से भगवान शिव को चढाया जाता है. मान्यता है कि यह फूल उनके पैरों में अर्पित करने से हर मनोकामना पूर्ण हो जाती है. वहीं मदार का पौधा सेहत के लिए भी किसी वरदान से कम नहीं है.

पूजा के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला यह पौधा स्वास्थ्यवर्धक है. इसकी पत्तियों और फूलों का इस्तेमाल अस्थमा, मधुमेह, कुष्ठ रोग और बवासीर जैसे रोगों को ठीक करने के लिए किया जाता है. आज के इस ख़ास लेख में हम आपको मदार का पौधा और उसके स्वास्थ्य लाभ बताने जा रहे हैं, जिन्हें जान कर आप भी हैरत में पड़ जाएंगे.

टोने टोटकों में उपयोगी

मदार का पौधा पिछले कईं सालों से टोने टोटकों और घरेलू उपायों में इस्तेमाल किया जाता रहा है. इक इस्तेमाल मुख्य रूप से निम्नलिखित कार्यों के लिए होता आ रहा है-

  • रविपुष्प नक्षत्र में लाया गया मदार का पौधा काफी लाभदायक होता है. इसके लिए पौधे की जड़ को दाहिने हाथ में धारण करें इससे आपको आर्थिक लाभ प्राप्त होंगे.
  • यदि कोई स्त्री मदार के पौधे की जड़ को कमर में बांधे तो इससे उसे संतान की प्राप्ति होती है.
  • मदार का पौधा और उसकी जड़ कोर्ट कचेहरी के मामलों में न्याय दिलवाती है. इसके लिए आपआर्द्रा नक्षत्र में आक की जड़ लाकर तावीज की तरह गले में बांधें.

चोट करे ठीक

मदार का पौधा अपने एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुणों के लिए जाना जाता है. ऐसे में यदि आपको चोट लग गई है या फिर आपका जख्म ठीक नहीं हो पा रहा तो इसकी पतियाँ पीस कर सरसों के तेल में मिक्स कर लें और इसे घाव पर लगा लें. इससे आपका घाव कुछ ही समय में भर जाएगा साथ ही आपको अगर कुष्ठ रोग है तो इस उपाय से वह ठीक हो जाएगा.

खुजली करे दूर

यदि आपको किसी तरह की खुजली या एलर्जी की समस्या है तो यह पौधा आपके लिए रामबाण साबित हो सकता है. मदार के पौधे के एंटी-फंगल गुण हर तरह की खुजली और इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करते हैं. इसके लिए आप इसकी जड़ को जला कर राख को कडवे तेल में मिला कर खुजली वाले स्थान पर लगाएं. ऐसा करने के कुछ ही दिनों में आपको खुजली से राहत मिल जाएगी.

बवासीर में रामबाण

बवासीर बेहद कष्टदायक रोग है. यह खुनी और वादी किस्म की होती हैं. मदार का पौधा बवासीर से मुक्ति दिलाने में उपयोगी साबित हो सकता है. इसके लिए आप पौधे का पत्ता और डंठल पानी में भिगो कर पी लें और सुबह पौधे की पत्तियां अपनी जुराबों में रखें. रात में सोने से पहले इन पत्तियों को निकाल दें. ऐसा करने से आपका शुगर लेवल भी काबू में रहेगा.

यह भी जानें – पत्थरचट्टा का पौधा

4.8 (96%) 5 vote[s]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here