ये है संपूर्ण हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa in hindi) और इसके लाभ

0
134
hanuman chalisa in hindi
hanuman chalisa in hindi

हिंदू धर्म में भगवान हनुमान को वीरता, भक्ति एवं साहस का प्रतीक माना गया है. रामायण के अनुसार जब भगवान राम को बनवास के लिए जाना पड़ा तो दुष्ट राक्षस रावण ने उनकी पत्नी सीता का हरण कर लिया था. जिसके बाद राम जी के परम भक्त हनुमान जी ने अपनी पूँछ पर आग लगा कर पूरी लंका का नाश कर दिया था. भगवान हनुमान जी को बजरंग बलि, मर्रुती नंदन, केसरी, वायुपुत्र आदि जैसे कईं नामों से जाना जाता है. हनुमान जी को संबोधित हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa in hindi) का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है. इसके जाप से हर प्रकार के भय दूर हो जाते हैं. इस लेख में हम आपको हनुमान चालीसा के लाभ और महत्व के बारे में बताने जा रहे हैं.

लेकिन उससे पहले आपको बता दें कि हनुमान चालीसा की रचना तुलसीदास ने की थी. हनुमान चालीसा का दोहा और चौपाई इतनी प्रभावशाली है कि यह मनुष्य के मन से हर प्रकार का डर एवं चिंता का नाश कर देती है. हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa in hindi) हर घर में मौजूद है. इसको हम ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से भी डाउनलोड करके सुन सकते हैं.

हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa in hindi)

यदि आप हनुमान चालीसा का हिंदी स्वरूप (Hanuman Chalisa Lyrics in hindi) ढूँढ रहे हैं, तो आप बिलकुल सही जगह हैं. हनुमान चालीसा का दोहा और चौपाई निम्नलिखित है-

।।दोहा।।
श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधार |
बरनौ रघुवर बिमल जसु , जो दायक फल चारि |
बुद्धिहीन तनु जानि के , सुमिरौ पवन कुमार |
बल बुद्धि विद्या देहु मोहि हरहु कलेश विकार ||

।।चौपाई।।
जय हनुमान ज्ञान गुन सागर, जय कपीस तिंहु लोक उजागर |
रामदूत अतुलित बल धामा अंजनि पुत्र पवन सुत नामा ||2||

महाबीर बिक्रम बजरंगी कुमति निवार सुमति के संगी |
कंचन बरन बिराज सुबेसा, कान्हन कुण्डल कुंचित केसा ||4|

हाथ ब्रज औ ध्वजा विराजे कान्धे मूंज जनेऊ साजे |
शंकर सुवन केसरी नन्दन तेज प्रताप महा जग बन्दन ||6|

विद्यावान गुनी अति चातुर राम काज करिबे को आतुर |
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया रामलखन सीता मन बसिया ||8||

सूक्ष्म रूप धरि सियंहि दिखावा बिकट रूप धरि लंक जरावा |
भीम रूप धरि असुर संहारे रामचन्द्र के काज सवारे ||10||

लाये सजीवन लखन जियाये श्री रघुबीर हरषि उर लाये |
रघुपति कीन्हि बहुत बड़ाई तुम मम प्रिय भरत सम भाई ||12||

सहस बदन तुम्हरो जस गावें अस कहि श्रीपति कण्ठ लगावें |
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा नारद सारद सहित अहीसा ||14||

जम कुबेर दिगपाल कहाँ ते कबि कोबिद कहि सके कहाँ ते |
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा राम मिलाय राज पद दीन्हा ||16||

तुम्हरो मन्त्र विभीषन माना लंकेश्वर भये सब जग जाना |
जुग सहस्र जोजन पर भानु लील्यो ताहि मधुर फल जानु ||18|

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख मांहि जलधि लाँघ गये अचरज नाहिं |
दुर्गम काज जगत के जेते सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते ||20||

राम दुवारे तुम रखवारे होत न आज्ञा बिनु पैसारे |
सब सुख लहे तुम्हारी सरना तुम रक्षक काहें को डरना ||22||

आपन तेज सम्हारो आपे तीनों लोक हाँक ते काँपे |
भूत पिशाच निकट नहीं आवें महाबीर जब नाम सुनावें ||24||

नासे रोग हरे सब पीरा जपत निरंतर हनुमत बीरा |
संकट ते हनुमान छुड़ावें मन क्रम बचन ध्यान जो लावें ||26||

सब पर राम तपस्वी राजा तिनके काज सकल तुम साजा |
और मनोरथ जो कोई लावे सोई अमित जीवन फल पावे ||28||

चारों जुग परताप तुम्हारा है परसिद्ध जगत उजियारा |
साधु संत के तुम रखवारे। असुर निकंदन राम दुलारे ||30||

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता। अस बर दीन्ह जानकी माता
राम रसायन तुम्हरे पासा सदा रहो रघुपति के दासा ||32||

तुम्हरे भजन राम को पावें जनम जनम के दुख बिसरावें |
अन्त काल रघुबर पुर जाई जहाँ जन्म हरि भक्त कहाई ||34||

और देवता चित्त न धरई हनुमत सेई सर्व सुख करई |
संकट कटे मिटे सब पीरा जपत निरन्तर हनुमत बलबीरा ||36||

जय जय जय हनुमान गोसाईं कृपा करो गुरुदेव की नाईं |
जो सत बार पाठ कर कोई छूटई बन्दि महासुख होई ||38||

जो यह पाठ पढे हनुमान चालीसा होय सिद्धि साखी गौरीसा |
तुलसीदास सदा हरि चेरा कीजै नाथ हृदय मँह डेरा ||40||

।।दोहा।।
पवन तनय संकट हरन मंगल मूरति रूप |
राम लखन सीता सहित हृदय बसहु सुर भूप ||

हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa in hindi) के लाभ

  1. यदि आपके घर में लंबे समय से कोई परेशानी या बिमारी चली आ रही है तो हनुमान चालीसा का जाप शुरू कर दें. आपने वो हिंदी की कहावत तो सुनी ही होगी कि यदि कोई दवा काम नहीं करती तो दुआ अवश्य काम करती है. ठीक इसी प्रकार बीमारी का नाश करने के लिए हनुमान चालीसा का जाप सबसे उत्तम उपचार माना गया है.
  2. यदि आपको डर लगता है या फिर जीवन में भूत-प्रेतों से जुडी कोई समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो आप हनुमान चालीसा का जाप अवश्य करें. इसके जाप से आप का हर प्रकार का भय दूर हो जाता है.
  3. आज के समय में हर व्यक्ति किसी ना किसी कारण के चलते तनाव अर्थात स्ट्रेस का शिकार हो रहा है. ऐसे में पीड़ित व्यक्ति यदि नियमित रूप से हनुमान चालीसा का जाप करे तो वह एकदम सामान्य हो सकता है.

यह भी पढ़ें – श्री दुर्गा चालीसा

Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here