क्या है सपने और क्यूँ दिखाई देते है , क्या कारण हैं इनका, आइये जानते हैं सपनों का मतलब

0
106
सपनों का मतलब

विज्ञान और ज्योतिष दोनो एक दूसरे से भिन्न हैं उसके बावजुद भी विज्ञान ज्योतिष की कुछ बातों को नकारता नहीं है. विज्ञान के अनुसार हमारी रोज़ मर्रा की ज़िन्दगी में जो कुछ हम सोचते हैं वही हमें रात को सपने के रूप में दिखाई देता है .लेकिन ज्योतिष के अनुसार सपने हमारे भविष्य का एक आईना है. हर सपने का अपना एक मतलब होता है जो की हमारे भविष्य से जुडा होता है .हमारे मतस्या पुराण में सपनों की व्याख्या विस्तार से की गई है. आज हम आपको सपनों का मतलब बताएंगे.

आइये जानते है सपनों का मतलब | (Why We See Dreams)

मतस्या पुराण के अनुसार यदि आप अच्छा सपना देखते हैं तो उसके बाद दुबारा नहीं सोना चाइये. बल्कि ये काम करने चाइये –
1. उठ कर पूजा पथ करें और अपना सपना किसी को भी न बताएं.
2. ब्रह्म मुहूर्त यानी सुर्योदय से पहले देखे गए सपने 10 दिनों के अंदर पुरे हों जाते हैं.
3. माना जाता है की कुछ सपनों को पूरा होने में एक वर्ष लग जाता है तो कई बार 6 महीने के अंदर सपना पूरा हो जाता है.
4. रात के पहले पहर में देखे गए सपनों को एक साल लग जाता है और दूसरे पहर में देखे गए सपने को पूरा होने में 6 महीने लग जाते हैं.
5. तीसरे पहर में देखे गए सपना 3 महीनों में पूरा हो जाता है. और आखिरी पहर में देखे गए सपना एक महीने पूरा होता है.
6. लेकिन दोपहर में देखे गए सपनों का कोई मतलब नहीं होता.

बुरे सपने दिखाई दें तो ये करें

मतस्य पुराण के अनुसार बुरे सपने के लिए कुछ उपाए बताएं गए है जो ये हैं-
1. यदि बुरा सपना आये तो उठ के पानी पिए और दुबारा सो जाना चाइये और सुबह उठ के अपना सपना किसी को बता दें.
2.सुबह उठ के पूजा पाठ करें तुलसी को जल चढ़ाये और तुलसी के सामने अपना सपना कह दें.

विज्ञान के अनुसार क्या है सपने आइये जानते हैं ( सपनों का मतलब )

विज्ञान के अनुसार impules के कारण आते है सपने. जब हम सो जाते हैं तब हमरे माइंड के अंदर बहोत कम सेंस होता है इसलिए जब हम सोये हुए होते हैं तो हमरे दिमाग तक पहुंचने वाली सूचनाओं से हमारा दिमाग भृमित हो जाता है. कामुक इच्छाओं की वजह से भी आते हैं सपने अर्थात जब इंसान की कामुक इच्छाएं पूरी नहीं होतीजो की मन में दबी रहती हैं तो वह उन् इच्छाओं को अपने सपनों में पूरा करता है.

सपनों के द्वारा हम अपने भविष्य में होने वाली अच्छी बुरी बातों को भी जान सकते है ,जानते हैं कैसे?

युंग के अनुसार कई बार सपने हमें भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में बता देते हैं जैसे की युंग ने कहा था की उसने अपनी प्रयोग के समय में पाया की एक सैनिक जो अभी अभी मरा था उसने अपनी डायरी में मरने से तीन दिन पहले लिखा था कि वह किसी पहाड़ी पर चढ़ रहा था और वह उसका पैर फिसल गया और वहीं उसकी मौत हो गई . सैनिक ने जो लिखा था उसके साथ वैसा ही हुआ. इस तरह युंग कहते हैं कि कुछ सपने भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में पहले बता देते हैं पर हर सपना सच हो जाये ये भी ज़रूरी नहीं हैं.

इच्छाओं को मन में दबा के रखने से भी आते हैं सपने | (Why We See Dreams)

फ्रायड़ कहते हैं कि कई बार मन में इच्छाओं को दबा के रखने से भी आते हैं सपने. अर्थात यदि कोई इच्छा मन में दबी रह जाये तो मनुष्य उसे अपने सपनों में पूरा करने की कोशिश करता हैं.

सबसे अधिक सपने आने का समय

सपनों का सम्बन्ध नींद से हैं और नींद 2 प्रकार की होती हैं एक तीव्र गति नींद जिसे REM कहा जाता है और दूसरी अति तीव्र गतिक नींद. इस नींद में इंसान आधा जगा और आधा सोया हुआ होता है.

क्या रियल में सपने सच होते हैं?(Why We See Dreams)

इस बात का जवाब देना बहोत ही मुश्किल हैं कि सपने सच होते हैं या नहीं क्युंकि कई बार सपने सच हो भी जाते हैं और कई बार नहीं. जिन लोगों को अक्सर कोई न कोई सपना दिखता हैं उनके सपनों कि सचाई बहोत  कम होती है और जो लोग कम सपने देखते उनके सपने कई बार पुरे हो जाते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here